Join us?

शिक्षा

10 मेडिकल कालेजों में पीजी के सीटों में बढ़ोतरी

10 मेडिकल कालेजों में पीजी के सीटों में बढ़ोतरी

छत्‍तीसगढ़ के 10 मेडिकल कालेजों को शिक्षा सत्र 2024-25 के लिए मान्यता मिलने का इंतजार है। नेशनल मेडिकल कमीशन (NMC) की तरफ से हर वर्ष मेडिकल कालेजों को लेटर आफ परमिशन (एलओपी) दी जाती है। सात शासकीय और तीन निजी मेडिकल कालेजों को अभी तक एलओपी नहीं मिली है।

ये खबर भी पढ़ें : हजार ऑडिशन देकर मैं बन ही गई हीरोइन, पापा की हां के इंतजार में बीत गए कई साल: कनिका गौतम

जगदलपुर और कांकेर मेडिकल कालेज में 125-125 सीटें हैं और रायगढ़ मेडिकल कालेज में 100 एमबीबीएस की सीटें हैं। मेडिकल कालेजों में प्रवेश के लिए नीट परीक्षा पांच मई हो चुकी है। परीक्षा परिणाम भी संभावित 14 जून को आ जाएगा। परीक्षा परिणाम आने से पहले इन कालेजों को भी मान्यता मिलने की संभावना है। इसके बाद ही सीटें निर्धारित होती है। सीटें निर्धारित होने के बाद ही काउंसिलिंग में शामिल होती है।

ये खबर भी पढ़ें : यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के लिए निशुल्क मॉक टेस्ट का आयोजन कल, 485 प्रतिभागी दो पालियों में देंगे माॅक टेस्ट

रायपुर के पं. जवाहरलाल नेहरू स्मृति मेडिकल कालेज को 230, दुर्ग 200, सिम्स बिलासपुर 180, अंबिकापुर 125, राजनांदगांव 125, कोरबा 125, महासमुंद 125 तथा निजी कालेजों में बालाजी, रिम्स रायपुर व शंकराचार्य भिलाई को एलओपी का इंतजार है।

ये खबर भी पढ़ें Try drinking Pineapple Lassi once in summer

एलओपी आने पर ही इन कालेजों में नए सत्र में प्रवेश होंगे। जानकारी के मुताबिक एनएमसी की तरफ से बालाजी मेडिकल कालेज में पीजी पाठ्यक्रम को मान्यता दे दी है। इसके मुताबिक 23 सीटों में पीजी की पढ़ाई होगी। स्किन और बायो केमेस्ट्री में चार-चार, मेडिसिन में आठ, पीएसएम में पांच, इमरजेंसी मेडिसिन में दो सीटें शामिल है।अभी तक प्रदेश में पीजी की 405 सीटें थी, अब बढ़कर 428 हो गई है।

ये खबर भी पढ़ें : Crisil का दावा- बैंक लोन में भी आएगी कमी, GDP ग्रोथ की कमी से होगा प्रभावित

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button