Join us?

राजधानी

प्रतिदिन राजधानी ने मनाया 23 वां स्थापना दिवस

रायपुर। स्वर्गीय कुलदीप निगम वृद्धाश्रम मान कैंप में दैनिक प्रतिदिन राजधानी पत्र समूह ने 23वां स्थापना दिवस हर्षोल्लास और उत्साह भरे वातावरण में मनाया। वहीं पत्र समूह के संस्थापक दिवंगत श्री रामचन्द्र नचरानी की दसवीं पुण्यतिथि पर पुण्य स्मरण कर यादों को तरो ताजा किया गया। इस विशेष अवसर पर नसीम अहमद खान उपसंचालक, घनश्याम केसरवानी उपसंचालक , विवेक सरकार सहायक संचालक, अनिल वर्मा सहायक जनसंपर्क अधिकारी एवं गुलजारीलाल तंबोली अस्सिटेंट ग्रेड 3 जनसंपर्क को विभाग छत्तीसगढ़ शासन रायपुर छत्तीसगढ़ की विशेष उपस्थिति रही। वहीं पत्र समूह के समूह संपादक जतिन नचरानी एवं नचरानी परिवार के वरिष्ठ सदस्य लक्ष्मण नचरानी स्थानीय संपादक आरपी दुबे वृद्ध आश्रम की संचालिका नीला यादव समाचार संवाददाता यज्ञ सिंह ठाकुर वरिष्ठ लेखा सहायक गेवेंद्र पटेल कार्यक्रम में शामिल हुए।

इस मौके पर पत्र समूह ने वृद्ध आश्रम में रहने वाले बुजुर्ग महिला एवं पुरुष को आमंत्रित अतिथियों के कर कमलों से उपहार भेंट कर सम्मानित किया किया। पत्र के ग्रुप एडिटर जतिन नचरानी ने वृद्ध आश्रम में खाद्य सामग्री दान की गई है, ताकि आश्रम में रहने वाले बुजुर्ग माता-पिता का भोजन आदि की व्यवस्था उपलब्ध हो सकें।

आयोजित दान कार्यक्रम में जनसंपर्क विभाग की ओर से उपस्थित सम्मानित अतिथियों में नसीम अहमद उपसंचालक जनसंपर्क विभाग ने विचार रखते हुए कहा कि प्रतिदिन राजधानी पत्र समूह की अच्छी पहल है। उन्होंने पत्र समूह संचालकों को शुभकामनाएं दी। वहीं आश्रम की जर्जर हालत पर चिंता जाहिर की और कहा कि शासन की ओर से हर संभव हो सकने वाली मदद को उपलब्ध कराया जाएगा ताकि आश्रम में रहने वाले बुजुर्ग माता-पिता की देखभाल अच्छी तरह से हो सके। वहीं आयोजन में घनश्याम केसरवानी उपसंचालक जनसंपर्क विभाग ने उद्बोधन रखते हुए कहा की पत्र की अनूठी पहल है। संचालकों को साधुवाद देकर पत्र आने वाले समय में अन्य सामाजिक सेवाओं के क्षेत्र में इसी तरह से योगदान कर सके की शुभकामनाएं दी। जबकि कार्यक्रम में प्रतिदिन राजधानी के ग्रुप एडिटर जतिन नचरानी ने विचार रखें और संस्थापक दिवंगत श्री रामचन्द्र नचरानी की स्मृति विशेष को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि दैनिक समाचार पत्र प्रतिदिन राजधानी एवं नचरानी परिवार सामाजिक उपयोगिता के क्षेत्र में निरंतर कार्य करते आया है। पूर्व के वर्षों में भी सामाजिक संस्थाओं में जाकर दान के माध्यम से उपस्थिति दर्ज कराई गई है ।

पत्र के संस्थापक और परिवार के सदस्यों का मानना रहा है कि समाचार पत्र संदेश संप्रेषण के माध्यम से निरंतर राज्य के विकास और अन्य सामाजिक कार्यों में उपस्थिति दर्ज कराते रहे साथ ही सामाजिक कार्यों में भी भूमिका निभाने की अनूठी पहल को जारी रखे। यह पहल निरंतर जारी रहेगी ताकि पत्र के माध्यम से हर आवश्यकता मंद व्यक्ति की मदद की जा सके तथा राज्य के विकास देश के विकास के सोपान में प्रमुख भूमिका निभाई जा सके। माना कैंप वृद्ध आश्रम में संचालिका नीला यादव ने भी इस मौके पर अपने विचार रखें और कहा कि यह आश्रम में सन 1993 से सेवा प्रदान कर रही हैं। निरंतर 35 वर्षों तक कार्य करते हुए आश्रम को कठिनाइयों से बाहर निकालने की कोशिश से हुई है । वर्ष 2010 तक आश्रम को शासन की ओर से अनुदान प्राप्त होता था जो अब बंद कर दिया गया है । उन्होंने एक अपील के माध्यम से शासन से कहा है की आश्रम को अनुदान प्रदान कर रहने वाले बुजुर्गों की देखभाल करने में विशेष मदद करें। बता दें कि माना वृद्ध आश्रम का भवन जर्जर स्थिति में है। गर्मी और बरसात के दिनों में बुजुर्ग माता-पिता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है । उनका कहना था कि सामाजिक संस्थाओं और दानदाताओं की मदद से आश्रम का संचालन किया जा रहा है। जिसमें निरंतर चुनौतियां बनी रहती हैं आयोजित इस कार्यक्रम में संचालन पत्र समूह के स्थानीय संपादक आरपी दुबे के द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button