Join us?

शिक्षा

दिल्ली के ट्रायबल यूथ हॉस्टल के 9 युवाओं ने पास की यूपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा

दिल्ली के ट्रायबल यूथ हॉस्टल के 9 युवाओं ने पास की यूपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा

रायपुर/छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा नई दिल्ली में शुरू किए गए यूथ हॉस्टल के 09 युवाओं ने संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण की है। आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास मंत्री श्री रामविचार नेताम ने प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी युवाओं को बधाई और शुभकामनाएं दी है।

ये खबर भी पढ़ें : भारतीय रेलवे ने इन लोगों के लिए लॉन्च किया संज्ञान ऐप

रामविचार नेताम ने आज वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से यूथ हॉस्टल इन युवाओं से चर्चा कर उनका हौसला बढ़ाया और उन्हें मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की नेतृत्व वाली सरकार में हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि यूपीएससी की प्रीलिम्स परीक्षा की सफलता पर प्रदेशवासियों को गर्व है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि प्रीलिम्स परीक्षा की तरह ही मेन्स की परीक्षा में छत्तीसगढ़ के युवा सफलता प्राप्त करेंगे। उन्होंने युवाओं को समझाईश देते हुए कहा कि वे लगन और ईमानदारी के साथ यूपीएससी मेन्स और इंटरव्यू की तैयारी में लगे रहे। उन्होंने युवाओं को राज्य सरकार द्वारा सभी आवश्यक मदद दिलाने के लिए भरोसा दिलाया।

ये खबर भी पढ़ें : संतरे खाने से स्वास्थ्य को होने वाले लाभकारी गुण

यूपीएससी प्रीलिम्स उत्तीर्ण युवाओं में दुष्यंत कुमार, सागर भारद्वाज, विकास कुर्रे, दक्षेश दीवान, अमरदीप कुजुर, चंद्रेश कुमार, कोमल साहू, राहुल साहू व रोशन लाल ठाकुर शामिल है। राजीव युवा उत्थान योजना के तहत आदिम जाति विकास विभाग द्वारा ट्रायबल यूथ हॉस्टल का संचालन किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : वेदांता एल्यूमिनियम ने पर्यावरण और ऊर्जा उत्कृष्टता के लिए जीते अनेक पुरस्कार

यह संस्था पूर्णताः आवासीय है। तहत कुल 185 सीट स्वीकृत है। यहां नियमानुसार अनुसूचित जनजाति वर्ग, अनुसूचित जाति वर्ग तथा पिछड़ा वर्ग के युवाओं और महिलाओं के लिए सीट आरक्षित है। इनमें संघ लोक सेवा द्वारा आयोजित प्रीलिम्स परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले युवाओं को मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए प्रोत्साहित करने आदिम जाति विकास विभाग द्वारा एक लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत अब तक 129 अभ्यर्थी विभिन्न पदों पर चयनित हुए हैं।

ये खबर भी पढ़ें : Backward class candidate Patkar got first rank in MPPSC

मंत्री श्री नेताम ने ऐसे जिला मुख्यालय जहां महाविद्यालय हैं, वहां कन्या छात्रावास खोलने की भी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के आश्रम-छात्रावासों, प्रयास स्कूलों और एकलव्य संस्थानों में सुविधाएं विकसित कर उन्हें देश में मॉडल के रूप में स्थापित किया जाएगा। इसी प्रकार आश्रम-छात्रावासों में सीटों में वृद्धि, उन्नयन और भवन के कार्य प्राथमिकता से किए जाने की घोषणा की है।

ये खबर भी पढ़ें : श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर ने रचा इतिहास…

आदिम जाति मंत्री श्री नेताम ने विधानसभा बजट सत्र के दौरान कहा है कि मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय की सरकार गांव, गरीब और किसान परिवारों सहित वंचित वर्गों के निरंतर विकास को प्राथमिकता में लेकर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग सहित कमजोर वर्गों के युवाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने तथा उन्हें उच्च पद पर नियोजित करने के उद्देश्य से प्रयास आवासीय विद्यालय, एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय, छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के परीक्षाओं तैयारी के लिए कोचिंग की व्यवस्था तथा यूपीएससी के तैयारी के लिए देश की राजधानी में यूथ हॉस्टल का संचालन किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
होंठों के ऊपर कालेपन से है परेशान? करें ये इस्तेमाल मुंबई में घूमने के लिए प्रमुख स्थान मानसून का मज़ा लीजिए, लेकिन इन स्ट्रीट फूड्स से रहें दूर