Join us?

ब्रेकिंग न्यूज़

महावृक्षारोपण अभियान: मार्च 2025 तक 140 करोड़ वृक्षों का रोपण किया जाएगा

महावृक्षारोपण अभियान: मार्च 2025 तक 140 करोड़ वृक्षों का रोपण किया जाएगा

रायपुर. ‘‘एक पेड़ मां के नाम‘‘ महावृक्षारोपण अभियान का मुख्य उद्देश्य अधिक-से-अधिक पौधा रोपित कर राज्य को हरा-भरा बनाकर पर्यावरण संतुलन बनाये रखना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस 05 जून 2024 को ‘‘एक पेड़ मां के नाम‘‘ वृक्षारोपण अभियान का शुभारंभ प्रारंभ किया गया।

ये खबर भी पढ़ें : Audit of all 102 ambulances operated in Sarguja

इस अभियान के तहत देश में सितम्बर 2024 तक 80 करोड़ एवं मार्च 2025 तक 140 करोड़ वृक्षों का रोपण किया जाना प्रस्तावित है। ‘‘एक पेड़ मां के नाम‘‘ महावृक्षारोपण अभियान के अंतर्गत छत्तीसगढ़ राज्य में वन विभाग द्वारा वन एवं वनेत्तर क्षेत्रों में 03 करोड़ 85 लाख पौधों का रोपण किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : भारतीय रेलवे ने इन लोगों के लिए लॉन्च किया संज्ञान ऐप

राज्य में ‘‘एक पेड़ मां के नाम‘‘ महावृक्षारोपण अभियान 11 जुलाई शाम 4 बजे जैव विविधता पार्क, अटल नगर, नवा रायपुर में मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय के मुख्य अतिथ्य में और अध्यक्ष वन मंत्री श्री केदार कश्यप की अध्यक्षता में सम्पन्न होगा। महावृक्षारोपण अभियान में अति विशिष्ट अतिथि उप मुख्यमंत्री श्री अरूण साव, श्री विजय शर्मा एवं सांसद रायपुर श्री बृजमोहन अग्रवाल, विधायक अभनपुर, श्री इंद्र कुमार साहू, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की अपर मुख्य सचिव श्रीमती ऋचा शर्मा, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख श्री व्ही. श्रीनिवास राव के रूप में उपस्थित रहेंगे।

ये खबर भी पढ़ें : संतरे खाने से स्वास्थ्य को होने वाले लाभकारी गुण

मुख्यमंत्री श्री साय के द्वारा वृक्षारोपण स्थलों का नामकरण स्थानीय देवी-देवताओं के नाम से करने का आह्वान किया गया है। राज्य के सभी जिलों में ग्राम एवं पंचायत स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर जनप्रतिनिधियों की भागीदारी से वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत चलाए जा रहे वृक्षारोपण अभियान के अंतर्गत आग, जामुन, बेल, कटहल, सीताफल, अनार, शहतूत, बेर, तेन्दू, गंगाईमली जैसे फलदार पौधे तथा लघु वनोपज एवं औषधीय प्रजाति के पौधों जैसे- हर्रा, बहेड़ा, आंवला, नीम, पुत्रन्जीवा, काला सिरस, रीठा, चित्रक आदि प्रजातियों के पौधों का रोपण किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : उच्च-तीव्रता वाली शारीरिक गतिविधि की वजह से बढ़ा बीमारियों का खतरा

शहरी क्षेत्रों में छायादार प्रजातियां बरगद, पीपल, मौलश्री, कदम, पेल्ट्राफार्म, गुलमोहर, करंज, अशोक, अर्जुन के साथ अन्य प्रजातियों का रोपण किया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत सभी स्कूलों, छात्रावासों, आंगनवाड़ी केन्द्र, पुलिस चौकी, अस्पताल, शासकीय परिसर, शासकीय एवं अशासकीय भूमि, विभिन्न अद्योगिक संस्थानों की रिक्त भूमि पर इस महावृक्षारोपण अभियान के अंतर्गत वृक्षारोपण का कार्य किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : नए कानून लागू होते ही भोपाल के हनुमानगंज थाने में दर्ज हुई प्रदेश की पहली एफआईआर

महावृक्षारोपण अभियान के तहत समस्त शासकीय विभाग, गैर सरकारी संगठन, स्वयं सेवी संस्थान, वनप्रबंधन समिति के सदस्यों, सभी स्तर के पंचायत संस्थान, स्कूल, महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं, गणमान्य नागरिकों एवं जनप्रतिनिधियों का सहयोग लिया जाकर उनकी भागीदारी सुनिश्चित करते हुए वृक्षारोपण किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : बॉक्स ऑफिस पर ‘कल्कि 2898 AD’ का कब्जा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सावन में चिकन-मटन छोड़ खाएं ये चीज बीज की ताकत: जानिए कैसे छोटे-छोटे बीज आपके स्वास्थ्य में ला सकते हैं बड़ा बदलाव एल आपकी राशि के हित में क्या हितकारी है ? धनु राशि