Join us?

राजधानी

वार्डो में स्वच्छता को लेकर प्रतिस्पर्धा का सुझाव, चलेगा जागरूकता अभियान

वार्डो में स्वच्छता को लेकर प्रतिस्पर्धा का सुझाव, चलेगा जागरूकता अभियान

रायपुर। आज स्वच्छता सर्वेक्षण के संबंध में नगर पालिक निगम रायपुर के महापौर एजाज ढेबर ने आयुक्त अबिनाश मिश्रा सहित निगम मुख्यालय भवन महात्मा गांधी सदन के तृतील तल सभाकक्ष में नेता प्रतिपक्ष मीनल चैबे, उपनेता प्रतिपक्ष मनोज वर्मा, स्वास्थ्य विभाग अध्यक्ष नागभूषण राव, एमआईसी सदस्य सुंदर लाल जोगी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं पार्षद सूर्यकांत राठौड, पार्षद मृत्युंजय दुबे सहित अपर आयुक्त राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता, स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. तृप्ति पाणीग्रही, स्वच्छ भारत मिषन के कार्यपालन अभियंता रधुमणी प्रधान, सहायक अभियंता योगेष कडु की उपस्थिति में ली । महापौर एवं आयुक्त ने स्वच्छता सर्वेक्षण को रायपुर शहर में नगर पालिक निगम की दृष्टि से सफल बनाने जनप्रतिनिधियों से सुझाव मांगे ।

ये खबर भी पढ़ें : देश में जुलाई में सामान्य से ज्यादा बारिश का अनुमान

महापौर एजाज ढेबर ने कहा कि पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में रायपुर शहर ने 11 वां स्थान अर्जित किया था । पब्लिक फीडबैक पर हमें अत्यधिक ध्यान देने की आवश्यकता है इसके साथ ही स्वच्छता हेतु चल रही रामकी कंपनी की गाड़ियों में पब्लिक फीडबैक मिलना आवश्यक है सभी जोनो में स्वच्छता एम्बेसडर की संख्या लगभग 150 है ।

ये खबर भी पढ़ें : संतरे खाने से स्वास्थ्य को होने वाले लाभकारी गुण

उन्होने पिछली बार स्वच्छता सर्वेक्षण में अहम भूमिका निभाई है इस संबंध में महापौर ने आयुक्त को सुझाव दिया है कि सभी वार्डों में स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर प्रतिस्पर्धा करवाने की आवश्यकता है, जिससे स्वच्छता में काफी सुधार हो सकता है । महापौर ने सुझाव दिया है कि वार्डो के साथ ही बाजारों, तालाबों स्कूल कॉलेज सभी स्थानों में स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर प्रतिस्पर्धा करवाने की आवश्यकता है, जिससे लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता आने के साथ अपने वार्ड को प्रथम स्थान में लाने हेतु प्रयास किये जायेंगे ।

ये खबर भी पढ़ें : स्वस्थ जीवनशैली के लिए जानें स्वास्थ्य संबंधी सुझाव

महापौर ने कहा कि नगर निगम के राजस्व अमले एवं जिनके कार्य अभी नगर निगम में सुचारू रूप से चल रहे हैं, उनको छोड़कर नगर निगम के सम्पूर्ण अमले को तत्काल स्वच्छता सर्वेक्षण के संबंध मंे फील्ड में कार्य पर लगने आवष्यक रूप से निर्देषित किया जाना चाहिए। महापौर ने कहा कि वार्डों में एनजीओ के माध्यम से स्वच्छता को लेकर जागरूकता अभियान चलाए जाने की आवश्यकता है।
नेता प्रतिपक्ष श्रीमती मीनल चैबे ने सुझाव दिया कि स्वच्छता के संबंध में जो भी बातें हो रही हैं, उसे अमल में लाने हेतु सफाई ठेकेदारों से बात की जानी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय राशि नगर निगम को दी जाती है, उक्त राषि का सम्पूर्ण सदूपयोग किया जाना प्रषासनिक तौर पर सुनिष्चित किया जाना चाहिए। मीनल चैबे ने सुझाव दिया कि स्वच्छता सर्वेक्षण में रैंकिंग सुधारने वार्डो के भीतरी एवं मुख्य मार्गो की सफाई में विषेष ध्यान देने की आवश्यकता है, वार्डों में स्थित बाजारों और तालाबों में में स्वच्छता अभियान की आवश्यकता है, सभी 70 वार्डो में डस्टबिन तत्काल वितरित करने की आवश्यकता है।

ये खबर भी पढ़ें : New DL rules applicable from June 1, apply from home

उपनेता प्रतिपक्ष मनोज वर्मा ने सर्वप्रथम डस्टबिन वितरण सभी वार्डों में करने का सुझाव दिया है।
एमआईसी सदस्य सुन्दर लाल जोगी ने सुझाव दिया कि शत प्रतिषत क्षेत्र को कव्हर करके रामकी कंपनी के माध्यम से डोर टू डोर कचरा कलेक्षन व्यवहारिक तौर पर सुनिष्चित किया जाना चाहिए। सभी 70 वार्डो के पार्षदों को वार्डो में रहवासी नागरिको के मध्य सफाई को लेकर जनजागरण करना चाहिए कि नागरिक घरों व दुकानों का कचरा यहां वहां नहीं फेंके बल्कि सफाई मित्र को देवें अथवा निर्धारित स्थान मुक्कड में डालें ताकि पूरे राजधानी शहर क्षेत्र में जनसहभागिता से स्वच्छता कायम हो सके।

ये खबर भी पढ़ें : Backward class candidate Patkar got first rank in MPPSC

पूर्व नेता प्रतिपक्ष व पार्षद श्री सूर्यकांत राठौड ने सुझाव दिया कि 70 पार्षदों को स्वच्छता सर्वेक्षण में शामिल करने हेतु एक बैठक रखी जानी चाहिए, जिसमें सभी से अपील करनी चाहिए कि वह अपने वार्ड की स्वच्छता की समीक्षा स्वयं करें। सभी व्यापारियों एवं बैंकों के प्रबंधकों की बैठक लेकर उनसे कचरा नालियों और मार्गो मंे नहीं डालने एवं स्वच्छता में सहभागी बनने अपील करने बैठक रखी जानी चाहिए।

ये खबर भी पढ़ें : मिशन मोड में कार्य कर छत्तीसगढ़ को कुपोषण मुक्त बनाना है

पार्षद मृत्युंजय दुबे ने सुझाव दिया कि सभी 70 पार्षदों को एक साथ बुलाकर मीटिंग रखनी चाहिए और सभी से अनुरोध किया जाना चाहिए कि मुक्कड़ वार्ड में नहीं होना चाहिए वार्ड के साथ ही वार्ड से लगे सभी मुख्य मार्गो पर डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के संबंध में नियमानुसार सख्ती बरती जानी आवश्यक है। उन्होने सुझाव दिया कि सभी सफाई कर्मियों को हर महीने समय पर वेतन मिलना चाहिए, जिससे वह लगन के साथ कार्य कर सकें। इसके साथ ही स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर की सभी स्कूलों के विद्यार्थियों की सहभागिता से स्वच्छता जागरूकता रैली निकालने की आवष्यकता है

ये खबर भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ में उद्योगों की स्थापना के लिए हर संभव सहयोग : मुख्यमंत्री साय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सावन में चिकन-मटन छोड़ खाएं ये चीज बीज की ताकत: जानिए कैसे छोटे-छोटे बीज आपके स्वास्थ्य में ला सकते हैं बड़ा बदलाव एल आपकी राशि के हित में क्या हितकारी है ? धनु राशि