Join us?

विशेष लेख

स्ट्रांग बनायें अपना पासवर्ड

स्ट्रांग बनायें अपना पासवर्ड

(सुभाष बुड़ावनवाला-विभूति फीचर्स)

अगर आप अपने मेल अकाउंट, बैंक अकाउंट पासवर्ड और एटीएम पासवर्ड को हैकर्स से बचाना चाहते हैं तो इसके लिए एक मजबूत पासवर्ड का होना बहुत जरूरी है। कुछ खास बातों को फॉलो करें, तो आपका पासवर्ड और डाटा दोनों सुरिक्षत रह सकते है। जानिए स्ट्रॉन्ग पासवर्ड बनाने के टिप्स-

आपका पासवर्ड जितना लंबा होगा, उसे ब्रेक करना उतना ही मुश्किल होगा। आमतौर पर एक्सपर्ट कम से कम 8 डिजिट तक का पासवर्ड रखने की सलाह देते हैं, लेकिन अगर पासवर्ड इससे बड़ा यानी 14 या 25 डिजिट तक का होगा, तो वह उतना ही ज्यादा सुरक्षित रहेगा। पासवर्ड में नंबर और वर्डस दोनों का कॉम्बिनेशन रखें। संभव हो तो नंबर और वर्ड के साथ सिंबल का भी यूज कर सकते हैं। हालांकि कुछ सर्विसेज इस तरह के पासवर्ड के लिए अनुमति नहीं देती है, लेकिन फिर भी एक कोशिश जरुर करें।

पासवर्ड के लिए किसी ऐसे वाक्य के बारे में सोचें जो केवल आप जानते हों, जैसे-अपने ई-मेल के लिए आप द क्विक ब्राउन फॉक्स जंप्स ओवर द लेजी डॉग जैसे वाक्य को बेस बनाकर पासवर्ड तैयार कर सकते हैं। इस वाक्य के प्रत्येक वर्ड के पहले लेटर को आप पासवर्ड के लिए यूज कर सकते हैं टीक्यूवीएफजेओटीएलडी। इसके अलावा, पासवर्ड के लिए कुछ ट्रिक भी अपना सकते हैं जैसे सिंपल पासवर्ड 123456 के बजाए पीएएएस 23 एसडब्ल्यूओआरडी का यूज करें। इस तरह के ट्रिक पासवर्ड को सिक्योर करने में ज्यादा मददगार साबित होती है।

ऐसे शब्दों का पासवर्ड के रूप में न चूज करें जो बहुत कॉमन हो, जैसे-अपना नाम, कंपनी का नाम या अपने होमटाउन का नाम आदि। यही नहीं, अपने किसी खास रिलेटिव्स या पालतू जानवर या अपनी जन्मतिथि,जिप कोड या टेलीफोन नंबर को भी पासवर्ड के रूप में यूज न करें। अगर करना ही चाहते हैं तो थोड़ा कॉम्प्लेक्स पासवर्ड यूज करें, जैसे-जिप कोड या फोन नंबर को रिवर्स ऑडर में यूज कर सकते हैं।

एक पासवर्ड का यूज एक जगह पर ही करें। सेम पासवर्ड को दूसरे अकाउंट के लिए यूज न करें। नॉर्मल काम के लिए लंबे पासवर्ड की जगह छोटा और आसान- सा पासवर्ड रखें, जैसे-किसी न्यूज वेबसाइट को पढऩे के लिए आसान-सा पासवर्ड रखें या जनरल वेबसाइट में अकाउंट बनाते वक्त आसान सा और कॉमन पासवर्ड रखें, ताकि याद करने में आसानी हो।

पासवर्ड कुछ सर्विसेज, जैसे-जीमेल पासवर्ड को मोबाइल फोन से कनेक्ट करने की सुविधा देती है। अपने ईमेल को सुरक्षित रखने के लिए ईमेल पर मोबाइल नंबर का होना सबसे आसान और विश्वसनीय तरीकों में से एक है। उदाहरण के लिए जब आप अपना जीमेल आउंट एक्सेस करते हैं, तो सर्विस प्रोवाइर की तरफ से एक वेरीफाई कोड मोबाइल पर भेजा जाता है। कोड को यूज कर आप अकाउंट एक्सेस कर सकते हैं।

यही प्रक्रिया दूसरे के लिए भी लागू होगी। अगर कोई दूसरा व्यक्ति आपका अकाउंट ओपन करना चाहेगा, तो सर्विस प्रोवाइडर कोर्ड नंबर मोबाइल पर भेजगा, जिसके बिना अकाउंट एक्सेस नहीं होगा। इस तरह ई-मेल अकाउंट को मोबाइल से कनेक्ट करके भी अपने मेल सर्विस को सेफ किया जा सकता है। (विभूति फीचर्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button